The Gorakhpur Realestate & Investment Solutions

प्रॉपर्टी-बाज़ार को बनाइये अपने निवेश का आधार

Posted by Vivek Agrahari on May, 13, 2018

यदि आप के पास आमदनी का कोई भी स्रोत्र है तो आपके लिए बचत या निवेश का भी कोई ना कोई सुरक्षित स्थान अवश्य होना चाहिए. आज के दौर में निवेश के लिए शेयर बाज़ार, म्यूच्यूअल फण्ड, फिक्स-डिपोजिट और गोल्ड जैसे अनेकों विकल्प मौजूद हैं. इन तमाम विकल्पों के अलावा निवेश के लिए रियल-इस्टेट भी एक चुनिन्दा विकल्प के रूप में उपलब्ध है. कहीं भी निवेश करते समय जोखिम के साथ साथ सबसे महत्वपूर्ण पहलू जिसको हम लोग देखना चाहते हैं वो होता है -रिटर्न. और यदि रिटर्न के लिहाज से देखा जाए तो ज़मीन की खरीदारी में अपने पैसों को लगाना सबसे ज्यादा सुरक्षित और फायदेमंद साबित हो सकता है. जी हाँ, भविष्य के लिए आपको कहीं पर चाहे एकमुश्त पैसा लगाना हो अथवा छोटी छोटी बचत कर के कहीं पर अपना आशियाना बनाना हो तो निश्चित ही रीयल इस्टेट का क्षेत्र आपके लिए बेमिसाल रहेगा. ज़मीन में निवेश की प्रमुख खासियत ये होती है की ज़मीनों का कभी भी मूल्यह्रास नहीं होता, इनकी कीमतें वक़्त के साथ बढ़ती ही बढ़ती हैं.

वर्तमान में सबसे अच्छी बात तो यह है कि यदि आपके पास एकसाथ ढेर सारा पैसा नहीं है तो भी आप अपने लिए संपत्ति बना सकते है. आजकल बहुत सारी कम्पनियाँ ऐसी हैं जो बाज़ार में आसान सी किश्तों पर बिना ब्याज के ही जमीन मुहैया करा रही हैं. अपनी आमदनी, बजट और बचत के अनुसार किश्तों को निर्धारित करके आप सुविधापूर्वक खुद के लिए जायदाद की आधारशिला रख सकते हैं. आपको पता भी नहीं चलेगा कि धीरे धीरे अपनी किश्तों को जमा करते हुए कब आप अपनी जमीन के मालिक बन गए. यहाँ पर ध्यान देने वाली बात सिर्फ ये होती है कि जमीन और कंपनी की विश्वसनीयता क्या है!!! अन्यथा कई बार कम लागत और ज्यादा मुनाफा के चक्कर में लोग धोखा भी खा जाते हैं. परन्तु अगर कंपनी हर तरीके से प्रमाणित है और उसके द्वारा दिए जाने वाले ज़मीनों का ब्यौरा सारी जाँच-पड़ताल में सही सिद्ध होता तो ऐसी जगहों पर निवेश करने में देरी नहीं करनी चाहिए. कहा भी जाता है की संपत्ति सिर्फ जायदा कमाने से नहीं बनती बल्कि जायदा बचाने से भी बनती है | अगर बचत करके सही जगह पर निरंतर निवेश किया जाय तो कम पैसे से भी जायदा संपत्ति बनायी जा सकती है.

रियल एस्टेट में पैसा डालना आपके लिए हर तरह से फायदेमंद ही रहता है. जब आप अपनी संपत्ति बना लेते हैं तो उसका इस्तेमाल करके आप अतिरिक्त कमाई भी कर सकते हैं. चाहें तो उसे किराये पर दे सकते हैं या चाहें तो जरूरत पड़ने पर बैंक से लोन भी ले सकते हैं, या चाहें तो भविष्य में बढ़ी हुई कीमतों पर बेच भी सकते हैं. जमीन की रीसेल वैल्यू अन्य किसी भी वस्तु की तुलना में हमेशा ही अधिक रहती है, इसलिए प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करना कहीं से भी घाटे का सौदा नहीं हो सकता है.

ऐसा नहीं है कि रियल एस्टेट के क्षेत्र में कोई जोखिम नहीं है ; परन्तु यदि अच्छी सलाह और सुनियोजित तरीके से धैर्यपूर्वक आप इसमें इन्वेस्टमेंट का प्लान करते हैं तो यकीन मानिए कि प्रॉपर्टी इन्वेस्टमेंट आपके पोर्टफोलियो की पहली पसंद बन जायेगी.



This entry was posted on May, 13, 2018 at 21 : 22 pm and is filed under Real Estate. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0 feed. You can leave a response from your own site.

Leave a Comment

(required)
(required) (will not be published)